Home / Latest Alerts / 17 साल की मां ने दिया था जन्म, पत्नी के लिए धोए बर्तन, एेसे खड़ा किया 10 लाख करोड़ का सम्राज्य

17 साल की मां ने दिया था जन्म, पत्नी के लिए धोए बर्तन, एेसे खड़ा किया 10 लाख करोड़ का सम्राज्य

Last Updated On : 12 Jan 2019

नर्इ दिल्ली। अाज यानी 12 जनवरी को दुनिया के सबसे बड़े अमीर जेफ बेजोस का जन्मदिन है। अमेजन के संस्थापक व CEO जेफ बेजोस ने हाल ही में अपनी पत्नी मैकेंजी से तलाक लेने की घोषणा किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तलाक के बाद बेजोस की अाधी संपत्ति उनकी पत्नी के पास चला जाएगा। तलाक की खबरों के बाद ही बीते दिनों बेजोस आैर न्यूज एंकर लाॅरेन संशेज की अफेयर की खबरे भी आने लगी हैं। बेजोस की जिंदगी में हालिया मसलों को छोड़ उनके बारे में बात करें तो उनको एक बात बेहद ही अच्छे से पता है कि उनकी यह कंपनी हमेशा के लिए नहीं रहेगी। हाल ही में एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि मुझे पता है कि चीजें आती है आैर जाती है। उन्हें ये बात अच्छे से पता है कि हर चीज की अपनी एक्सपायरी डेट है। आज धरती के सबसे बड़े धनकुबेर के जन्मदिन पर उनके बारे में हम कुछ दिलचस्प बातें आपको बताना जा रहे हैं। साथ में हम यह भी जानेंगे कि जेफ बेजोस ने अाखिर कैसे इतना बड़ा सम्राज्य खड़ा किया।


किशोर मां से जन्में थे जेफ बेजोस

जेफ बेजोस काे एक किशोर मां ने जन्म दिया था। कर्इ इंटरव्यू में जेफ बेजोस ने अपनी का शुक्रिया अदा किया है। वो अपनी मां से हमेशा इस बात के लिए शुक्रगुजार रहे कि उन्होंने बेजोस को सबसे बेहतर जीवन प्रदान किया। बेजोस ने एक बार कहा था कि उनकी मां ने सौतेल पिता से तब शादी की थी जब वो 4 साल के थे। मां के इस एक फैसले ने उनका पूरा जीवन बदल कर रख दिया।


1996 में शुरू की थी कंपनी

अमेजन की स्थापना करने से पहले जेफ बेजोस अपना समय वाॅल स्ट्रीट पर बिताते थे। यहीं से बिजनेस को लेकर उनकी रुचि बढ़ती गर्इ आैर वो बस खुद का बिजनेस खोलना चाहते थे। आप जानकर चौंक जाएंगे कि अमेजन का आइडिया उन्हें न्यू याॅर्क से सीटल के एक रोड ट्रिप के दौरान आया था। आज बेजोस को दुनिया में कम से कम एक बात की चिंता तो कभी नहीं करनी होगी, वौ है पैसे की। एक अाॅनलाइन बुक स्टोर के तौर पर शुरू हुर्इ अमेजन अपने आप में एक सम्राज्य है। साल 1996 में जब ये सब शुरू हुआ तब उनकी पत्नी आैर अन्य लाेग जिन्हें कंप्यूटर के बारे में जानकारी थी, आॅर्डर फाइल करने में उनकी मदद करते थे। जेफ बेजोस खुद पैकेज को पोस्ट आॅफिस तक ले जाते थे। आज अपनी कंपनी को इस मुकाम पर पहुंचाने के बाद बेजोस का कहना है कि जीवन में उनका केवल एक ही उद्देश्य रहा है। वो उद्देश्य है कि जल्द से जल्द अाप बड़े बने। इसके लिए उन्होंने दिन-रात एक कर दिया था।


ग्राहकों के रिव्यू के आधार पर फैलाया अपना बिजनेस

जेफ बेजोस को आज दुनिया के सबसे बड़े अरबपति बनाने में सबसे बड़ा याेगदान उनके ग्राहकों का है। जब वो किताबों के अलावा म्युजिक व वीडियाे की सेल भी शुरू करना चाहते थे तो उन्होंने अपने 1,000 ग्राहकों को एक र्इ-मेल भेजा था। इस र्इ-मेल में बेजाेस ने उनसे पूछा था कि किताबों के अलावा उन्हें आैर क्या पसंद है। तब एक महिला ग्राहक ने उन्हें रिप्लार्इ में कहा कि वा चाहती हैं कि अमेजन से वो वाइपर्स खरीद सकें। इस एक आइडिया के बाद नए अमेजन का जन्म हुआ। जेफ बेजोस को इससे एक बात साफ पता चल चुका था कि ग्राहक अपनी सुविधा चाहते हैं आैर वो इसके लिए खर्च करने को तैयार हैं। लोग समय से अपने सामान की डिलिवरी चाहते हैं।


दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है अमेजन

हालांकि अमेजन के बढ़ते सम्राज्य के साथ उनके रास्ते में कर्इ तरह के रोड़े आए लेकिन वो अपने लक्ष्य से भटके नहीं। उन्हें इस बात की उम्मीद है कि उनकी कंपनी प्रतिस्पर्धियों की तुलना में अपने ग्राहकों के लिए हमेशा आगे रहे। उनकी इसी आशावादी विचारधारा व उद्देश्यन ने आज दुनिया के सबसे सफल शख्स के रूप में ला खड़ा किया है। अमेजन आज एक वैश्विक कंपनी अौर हर घर में इसका नाम है। ये दुनिया की उन कंपननियों में से एक है जिसपर ग्राहकों को पूरा भरोसा रहता है। कंपनी अपने ग्राहकों को जल्द से जल्द डिलिवरी, बेहतरीन कीमत आैर जरूरत पड़ने पर आसान रिटर्न की सुविधा के लिए जानी जाती है। जेफ बेजोस ने अपने इस सम्राज्य को विश्वास व भरोसे पर खड़ा किया है। उन्होंने जरूरत पड़ने पर लंबी छलांग लगार्इ, एेसे लोगों के साथ रहे जो उन्हें हमेशा प्रोत्साहित करते हैं।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business news in hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।

Published From : Patrika.com RSS Feed

comments powered by Disqus

Search Latest News

Top News