Home / Latest Alerts / गौतम गंभीर ने टेनिस बॉल से खेलने वाले नवदीप सैनी को अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में दिलाई पहचान

गौतम गंभीर ने टेनिस बॉल से खेलने वाले नवदीप सैनी को अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में दिलाई पहचान

Last Updated On : 21 Jul 2019

नई दिल्ली। वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम इंडिया का ऐलान कर दिया गया। इस दौरे के लिए भारतीय क्रिकेट टीम में नवदीप सैनी ( navdeep saini ) और राहुल चहर ( rahul chahar ) के रूप में दो नये चेहरों को टीम में जगह मिली है। भारतीय क्रिकेट में नवदीप सैनी कोई नया नाम नहीं हैं। आईपीएल में नवदीप रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर के लिए खेलते हैं। क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 ( Cricket World Cup 2019 ) में नवदीप सैनी को टीम इंडिया के बल्लेबाजों को अभ्यास कराने के लिए भेजा गया था। इनके अलावा वर्ल्ड कप में बल्लेबाजों को अभ्यास कराने के लिए अवेश खान, खलील को भी इंग्लैंड भेजा गया था।

तेज रफ्तार से विकेट निकालने की क्षमता रखते हैं सैनी

एक समय था जब भारत में मीडियम पेसर तो बहुत थे, लेकिन ऐसे कम ही गेंदबाज थे। जिनकों सही मायने में तेज गेंदबाज कहा जा सके। फिर वो दौर भी आया जब भारतीय टीम में उमेश यादव, वरूण एरॉन, मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह जैसे गेंदबाज आये। ये आज के दौर के ऐसे गेंदबाज है, जिन्हें पिच से मदद न मिले तब ये विकेट निकालने की क्षमता रखते हैं। लंबे ऊंचे कद के नवदीप सैनी लगातार 150 की रफ्तार से गेंदबाजी कर सकते हैं। रफ्तार के मामले में नवदीप उमेश यादव और जसप्रीत बुमराह से भी दो कदम आगे हैं। नवदीप अपनी तेज गेंदबाजी से दुनिया के अच्छे से अच्छे बल्लेबाज पर अंकुश लगाने की क्षमता रखते हैं।

Navdeep Saini

टेनिस बॉल से खेलते थे नवदीप सैनी

नवदीप सैनी को अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट में लाने का श्रेय भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर को जाता है। 2013 में नवदीप सैनी पर जब गौतम गंभीर की नजर पड़ी तब वो 250-300 रुपये के लिए टेनिस बॉल से मैच खेलते थे। गंभीर के कहने पर एक दिन नवदीप सैनी रोशनआरा क्लब पहुंचे। गौतम गंभीर पहले ही ठान चुके थे कि मुझे नवदीप को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पहचान दिलानी है। गौतम ने नवदीप के हाथ में बॉल थमाते हुए उन्हें गेंदबाजी करने का इशारा किया। जिस नवदीप ने कभी लेदर बॉल को छुआ तक नहीं था, आज उसको टीम इंडिया जाने-माने बल्लेबाज गौतम गंभीर के सामने गेंदबाजी करनी थी। हाथ में लेदर बॉल थामे नवदीप सैनी की भावनाओं को समझते हुए गंभीर ने उनसे कहा कि तुम ऐसे ही गेंदबाजी करो जैसे टेनिस बॉल से करते हो। तुम अच्छी गेंदबाजी कर सकते हो।

 

Gautam

दिल्ली टीम में लाने के लिए चयनकर्ताओं से भिड़ गए थे गंभीर

नवदीप सैनी को दिल्ली की रणजी टीम जगह दिलाने के लिए गौतम गंभीर ने डीडीसीए अधिकारियों और चयनकर्ताओं से बात की। चयनकर्ता ये मानने को तैयार नहीं थे कि कैसे वो एक ऐसे खिलाड़ी को रणजी टीम में चुनें, जिसने कभी लेदर बॉल से क्रिकेट नहीं खेला है। गौतम गंभीर अपने जिद पर अड़े रहे और आखिर में नवदीप सैनी का दिल्ली की टीम में चयन कराया। दिल्ली की टीम में चुने जाने के बाद नवदीप ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। आज नवदीप दिल्ली और आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर के प्रमुख गेंदबाज हैं।

नवदीप सैनी गंभीर को देते हैं अपनी कामयाबी का श्रेय

मूल रूप के हरियाणा के करनाल के नवदीप गौतम गंभीर को अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आने की सबसे बड़ी वजह मानते हैं। एक इंटरव्यू में नवदीप सैनी ने कहा था कि आज मैं जो भी हूं सब गौतम भैया की बदौलत हूं। इनके साथ के कारण ही मैं आज यहां तक पहुंचा हूं। नवदीप ने कहा कि जब भी कोई मुश्किल आई उन्होंने मुझे गेंदबाजी करने के लिए प्रेरित किया। और हर समस्या को दूर कर दिया। नवदीप सैनी के परिवार का देश की आजादी की लड़ाई में योगदान रहा है। उनके दादा करम सिंह सुभाष चंद्र बोस की आजाद हिंद फौज में ड्राइवर थे।

Published From : Patrika.com RSS Feed

comments powered by Disqus

Search Latest News

Top News