Home / Latest Alerts / 70 हजार करोड़ के पैकेज से मिलेगी पॉवर सेक्टर को ताकत, कंपनियां कस्टमर्स से वसूलेंगी ज्यादा बिल

70 हजार करोड़ के पैकेज से मिलेगी पॉवर सेक्टर को ताकत, कंपनियां कस्टमर्स से वसूलेंगी ज्यादा बिल

Last Updated On : 21 Apr 2020

नई दिल्ली: कोरोना ल़ॉकडाउन वैसे तो पूरी अर्थव्यवस्था पर भारी पड़ा है लेकिन कुछ सेक्टर्स पर इसकी मार थोड़ी ज्यादा गहरी पड़ी है, और ऐसे ही सेक्टर में से एक है पॉवर सेक्टर। बिल न जमा हो पाने और टैरिफ के सपाट होने की वजह से इस सेक्टर में कैश की किल्लत जबरदस्त है। यही वजह है कि सरकार इस सेक्टर को फिर से पॉवर देने के लिए 70000 करोड़ का राहत पैकेज दे सकती है। सरकार पॉवर सेक्टर के लिए राहत जुटाने वाले इस पैकेज पर काम कर रही है और जल्द ही कैबिनेट की मुहर के साथ इसका ऐलान किया जा सकता है।

अधिकारियों का कहना है कि कारखानों और फैक्ट्रियों पर ताला लगने की वजह से पॉवर सेक्टर के रेवेन्यू में 80 फीसदी की कमी आई है। जिसकी वजह से देश में पॉवर सप्लाई करने वाले सेक्टर को खुद पॉवर की कमी हो चुकी है।

इंतजार खत्म! सॉवरेन गोल्ड बॉंड की मार्केट में एंट्री, जानें कब तक है खरीदने का मौका

ऊर्जा विभाग का दावा है कि अप्रैल महीने में गर्मी शुरू होने के बावजूद खपत 125 गीगावॉट तक पहुंच चुकी है। जो कि पहले 168 गीगावॉट हुआ करती थी। जिसके चलते कंपनियों को काफी मुकसान उठाना पड़ रहा है। पिछले साल तक जो कंपनियां इलेक्ट्रिसिटी बिल से 30-40 दिन में 55 हजार करोड़ कमाती थी उनकी आय अब 12 हजार करोड़ पर सिमट चुकी है।

कर्ज देकर दी जाएगी राहत-

यूनियन पॉवर मिनिस्ट्री इस सेक्टर के लिए 70 हजार करोड़ के पैकेज पर काम तो कर रही है और उम्मीद है कि अगले सप्ताह तक इसकी घोषणा भी हो जाएगी। जिससे कि इस सेक्टर को थोड़ी राहत मिले। इस पैकेज के तहत कंपनियों को 8 साल तक के लिए कर्ज देने की व्यवस्था की जा सकती है।

चीन से बोरिया-बिस्तर बांधने की तैयारी में 1000 कंपनियां, भारत बन सकता है विकल्प

कीमत में हो सकता है इजाफा- इसके अलावा कंपनियां काम शुरू होने के साथ ही बिजली सप्लाई के लिए लिये जाने वाले टैरिफ रेट्स में भी बढ़ोत्तरी कर सकती है। यानि कंज्यूमर को बिजली के लिए अब ज्यादा पैसे चुकाने होंगे।

Published From : Patrika.com RSS Feed

comments powered by Disqus

Search Latest News

Top News